Skip to content
Home | Raigarh News : प्रेमिका का दैहिक शोषण कर गर्भपात कराया, प्रेमी को उम्रकैद

Raigarh News : प्रेमिका का दैहिक शोषण कर गर्भपात कराया, प्रेमी को उम्रकैद

रायगढ़। प्रेमिका की आबरू से खिलवाड़ कर गर्भवती होने पर उसके कोख का कत्ल कराते हुए पल्ला झाड़ने के मामले में आरोप प्रमाणित होने पर विशेष न्यायाधीश ने उसके दगाबाज आशिक को उम्रकैद की सजा सुनाई। साथ ही अलग-अलग धाराओं के तहत 25 हजार रूपये के अर्थदंड से दण्डित भी किया है। विशेष लोक अभियोजक अनूप कुमार साहू ने बताया कि यह मामला रायगढ़ जिले के धरमजयगढ़ थाना क्षेत्र के रैरूमा चौकी अंतर्गत का है।

ग्राम सकरलिया निवासी विद्याधर यादव पिता राजकुमार यादव ने 7 साल पूर्व यानी 2016 में गैर बिरादरी की एक युवती से अपने प्रेम का इजहार किया। युवती ने उसके प्रणय प्रस्ताव को खारिज करते किया, फिर भी विद्याधर ने अंतरजातीय होने का हवाला देते हुए उसे अपने प्रेमजाल में फंसा लिया। यही नहीं, जातिवाद की समस्या होने पर युवक ने उसे एक रोज धोखे से जंगल में बुलाया और जबरिया उसकी आबरू लूट ली। नतीजतन, युवती का गर्भ ठहर गया और बिनब्याही मां बनने के कलंक से बचने के लिए उसने विद्याधर को अपने पेट में पल रहे अजन्मे बच्चे के होने की जानकारी देते हुए शादी के लिये दबाव बना बनाने लगी तो युवक उसे गर्भपात के लिये मजबूर करता रहा। युवती जब अपने कोख के कत्ल के लिए राजी नहीं हुई तो ब्याह रचाने का दिवास्वप्न दिखाते हुए आरोपी ने दवा खिलाकर उसका गर्भपात करा दिया। इसके बाद भी विद्याधर अपनी महबूबा की अस्मत से लगातार खिलवाड़ करता रहा।

प्रेयसी का अनचाहे गर्भपात कराने के पश्चात् विद्याधर ने उससे कन्नी काटते हुए दूसरी लड़की के साथ विवाह करने वाला था कि इसकी भनक पीड़िता को लग गई। फिर क्या, लव, सैक्स और धोखे की शिकार हुई युवती ने परिजनों को आपबीती बताते हुए थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 376 (2) (के) (एन) 506 अनुसूचित जाति अनुसूचित और जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम की धारा 3 (1) (आर) 3 (2) (व्ही) के तहत अपराध पंजीबद्ध करते हुए उसे गिरफ्तार कोर्ट में पेश किया । विशेष न्यायाधीश जितेंद्र कुमार जैन ने दोनों पक्षों की दलीलों और घटना से जुड़े सबूतों के मद्देनजर आरोप सिद्ध होने पर विद्याधर को आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए 25 हजार 500 रुपए अर्थदंड के रूप में पटाने का फरमान जारी किया। अर्थदंड की राशि नियत समय में चुकता नहीं करने पर मुल्जिम को अतिरिक्त कारावास भी

error: Don\'t copy without permission.This is a violation of copyright.