Skip to content
Home | Raigarh News : नपुंसक के ताने से क्षुब्ध युवक ने पति-पत्नी को मारा चाकू, सिरफिरे को ग्रामीणों ने किया पुलिस के हवाले, पुरानी रन्जिश में गया था पूरे परिवार की हत्या करने, दोस्त नहीं मिला तो उसके मां-बाप को बनाया शिकार

Raigarh News : नपुंसक के ताने से क्षुब्ध युवक ने पति-पत्नी को मारा चाकू, सिरफिरे को ग्रामीणों ने किया पुलिस के हवाले, पुरानी रन्जिश में गया था पूरे परिवार की हत्या करने, दोस्त नहीं मिला तो उसके मां-बाप को बनाया शिकार

रायगढ़, 7 मार्च। 10 बरस पहले ओपीजेआईटी में इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान मोटापे को देख नपुंसक  के व्यंग्य बाण से अपमान का घूंट पीने वाले सिरफिरा युवक बदला लेने के चक्कर में संगीन गुनाह कर बैठा। प्रतिशोध की आग में झुलसने वाला युवक आया तो अपने दोस्त को मौत के घाट उतारने के लिए था, मगर घर में जब वह नहीं मिला तो उसके बुजुर्ग मां-बाप पर चाकू से कातिलाना हमला कर दिया। लोगों ने हमलावर को पकडक़र पुलिस के हवाले किया है। चाकूबाजी की यह वारदात शहर के कोतरा रोड थाना क्षेत्र का है। घटना की विवेचना कर रहे सहायक उपनिरीक्षक राजेन्द्र राठौर ने बताया कि समीपस्थ ग्राम धनागर में होलिका दहन की सुबह तकरीबन सवा 9 बजे उस समय सनसनी फैल गई, जब गांव के सम्पन्न किसान हरिशंकर पटेल और उसकी पत्नी बसंत देवी के घर घुसकर एक युवक ने चाकू से इस कदर हमला किया कि खून से लथपथ दम्पत्ति की चीख चीत्कार को सुन मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़ा और पुलिस को इसकी सूचना दी। चाकूबाजी की भनक लगते ही हरकत में आए थाना प्रभारी गिरधारी साव ने टीम को मौके पर रवाना किया तो धनागर पहुंची पुलिस ने रक्तरंजित दम्पत्ति को मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती कराते हुए ग्रामीणों द्वारा पकड़े मुल्जिम को रस्सी से हाथ-पांव बंधे हालत में अपने हत्थे चढ़ाया। 

दिल को चुभने वाले कटाक्ष से था परेशान

पुलिस ने आरोपी के पूछताछ की तो उसने अपना नाम ग्राम रानीगुड़ा निवासी जवाहर पटेल (32 वर्ष) बताया। यही नहीं, उसने इकबाल-ए-जुर्म करते हुए जो असल वजह बताई, उसे सुनकर वर्दीधारियों के भी होश उड़ गए। जवाहर की माने तो विगत सन 2009 से 13 तक वह ओपीजेआईटी में मैकेनिकल की पढ़ाई करता था। चूंकि, उसके साथ धनागर के हरिशंकर पटेल का बेटा टीकम पटेल भी पढ़ता था, इसलिए दोनों के बीच अच्छी दोस्ती भी हुई। जवाहर का शरीर उस दौरान भी मोटा था, इसलिए जब वह नहाता था तो टीकम मोबाइल फोन से वीडियो बनाते हुए उसका मजाक उड़ाता। वहीं, जब मोटापे के शिकार युवक को टीकम नपुंसक कहते हुए कॉलेज में बेइज्जत करने लगा तो वह अपमान का घूंट पीकर सबकुछ सहने लगा। 

सालों से झुलस रहा था प्रतिशोध की अग्नि में 

कॉलेज की पढ़ाई पूरी होने के बाद भले ही टीकम और जवाहर एक दूसरे से नहीं मिले, मगर युवावस्था में किए व्यंग और कटाक्ष भरे मजाक ने जवाहर के मन मे ऐसा घर किया कि वह टीकम से बदला लेने की आग में झुलसने लगा था। जवाहर का एक बड़ा और छोटा भाई भी है, मगर किसी की शादी नहीं हुई। ऐसे में जवाहर ने टीकम और उसके परिवार का खून करते हुए प्रतिशोध की अग्नि की जलन से छुटकारा पाने की योजना बनाई। होलिका दहन की सुबह जवाहर रानीगुड़ा से हीरो स्प्लेंडर मोटर सायकल (क्रमांक-सीजी 13 बी 8614) से धनागर गया और ग्रामीणों से टीकम का पता पूछते हुए उसके घर पहुंचा। 

रक्तरंजित मियां-बीवी को तड़पते देखने बैठा रहा

हरिशंकर ने अपने घर आए जवाहर को बताया कि टीकम एमएसपी कंपनी में ड्यूटी करने गया है तो वह उसे नहीं पाने पर बौखला उठा और सब्जी काटने वाली चाकू से हरिशंकर पर ही ताबड़तोड़ प्रहार करने लगा। चाकूबाजी  से माथे, पेट, सीने, दाहिने हाथ के अंगूठे में गंभीर चोटें आने पर हरिशंकर चीखने लगा और अपने पति को खून से लथपथ हालत में देख बसंत देवी जब उसे बचाने ऐसी तो जवाहर ने उस पर भी चाकू से कातिलाना हमला कर दिया जिससे उसकी गर्दन, पीठ चोटिल हुआ। वहीं, पटेल दम्पत्ति को रक्तरंजित हालत में तड़पते देख जवाहर भागा नहीं, बल्कि वहीं बैठकर उनकी तड़प देखता रहा। ऐसे में आस-पड़ोस के लोगों ने जवाहर को पकड़ा और उसके हाथ-पैर को रस्सी से बांधने के बाद पुलिस को वारदात की सूचना दी। बहरहाल, कोतरा रोड पुलिस अब जवाहर पटेल के खिलाफ भादंवि की धारा 452, 307 के तहत आपराधिक प्रकरण कायम करते हुए जांच पड़ताल कर रही है।

error: Don\'t copy without permission.This is a violation of copyright.